शीतला अष्टमी कब है , शीतला अष्टमी क्यों मनाते हैं ?

Date:

Share post:

शीतला अष्टमी कब है , शीतला अष्टमी क्यों मनाते हैं ?

शीतला अष्टमी कब है , शीतला अष्टमी क्यों मनाते हैं ? , शीतला माता का मेला कहां लगता है , शीतला माता का मेला कब लगता है , शीतला अष्टमी के दिन कौन सा महोत्सव मनाया जाता है , shitala ashtmi kab hai , shitala ashtmi kyon manate Hain , shitala mata ka mela kahan lagta hai , shitala ashtmi ke din kaun sa mahotsav manaya jata hai ,

शीतला अष्टमी कब है , शीतला अष्टमी क्यों मनाते हैं ?
शीतला अष्टमी कब है , शीतला अष्टमी क्यों मनाते हैं ?

शीतला अष्टमी कब है 2023

शीतला अष्टमी 15  मार्च 2023 (बुधवार) के दिन हैं। हिंदू माह के अनुसार प्रतिवर्ष शीतला अष्टमी चैत्र कृष्ण अष्टमी के दिन मनाई जाती है।

शीतला अष्टमी क्यों मनाते हैं ?

शीतलाष्टमी मनाने के पीछे एक प्राचीन कथा है ऐसा कहा जाता है कि किसी गांव में आग लग गई थी तो उस गांव के संपूर्ण लोग हाहाकार मचाने लगे थे उसी समय शीतला माता अवतरित हुई थी और सभी गांव वालों के प्राणों की रक्षा की थी इसलिए शीतलाष्टमी मनाई जाती है।

शीतला माता का मेला कहां लगता है

राजस्थान के जयपुर जिले के चाकसू नामक स्थान पर प्रतिवर्ष चैत्र कृष्ण अष्टमी के दिन शीतला माता का मेला लगता है।

शीतला माता का मेला कब लगता है

शीतला माता का मेला चैत्र कृष्ण अष्टमी के दिन लगता है।

हवन का शुभ मुहूर्त 2023 , Havan karne ka Shubh muhurt

शीतला अष्टमी के दिन कौन सा महोत्सव मनाया जाता है

शीतला अष्टमी के दिन राजस्थान के जोधपुर जिले में घुड़ला महोत्सव मनाया जाता है।

शीतला माता का वाहक क्या है ?

शीतला माता का वाहक गधा होता है जो कठोर परिश्रम का प्रतीक है।

शीतला माता का पुजारी किस जाति का होता है ?

शीतला माता का पुजारी कुम्हार जाति का होता है जो भी निरंतर परिश्रम करने का प्रतीक है। कुम्हार जाति का मुख्य व्यवसाय मटके बनाना होता है।

शीतला माता को भोग कब लगता है ?

शीतला माता का मेला चैत्र कृष्ण अष्टमी को लगता है जबकि शीतला माता को भोग चैत्र कृष्ण सप्तमी के दिन लगता है।

बच्चे के जन्म का शुभ मुहूर्त 2023 | Bacche ke janm ka Shubh muhurt

शीतला माता के मेले के दिन कौन सा भोजन किया जाता है ?

शीतला माता के मेले के दिन बासी भोजन किया जाता है। यानी कि मेले के 1 दिन पूर्व पकवान बनाए जाते हैं तथा 1 दिन पश्चात खाए जाते हैं।

Disclaimer: उपरोक्त पर्व से संबंधित जानकारी हमारे द्वारा विभिन्न स्त्रोतों के माध्यम से प्राप्त करके आपके साथ साझा की गई है यदि इसमें किसी भी प्रकार की कोई त्रुटि होती है तो इसके लिए Gaanvkhabar जिम्मेदार नहीं है।

Related articles

नाबालिग गर्लफ्रेंड ने युवक को सऊदी अरब से बुलाकर हत्या की

नाबालिग गर्लफ्रेंड ने युवक को सऊदी अरब से बुलाकर हत्या की छत्तीसगढ़ के कोरबा क्षेत्र से हैरान करने वाली...

जम्मू कश्मीर में दिखे तीन संदिग्ध आतंकी, सेना ने शुरू किया ऑपरेशन

जम्मू कश्मीर में दिखे तीन संदिग्ध आतंकी, सेना ने शुरू किया ऑपरेशन जम्मू कश्मीर के काना चक क्षेत्र से...

अरविंद केजरीवाल को अंतरिम जमानत, लेकिन जेल से बाहर नहीं आ पाएंगे

अरविंद केजरीवाल को अंतरिम जमानत, लेकिन जेल से बाहर नहीं आ पाएंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सुप्रीम...

नक्की झील का सामान्य ज्ञान Nakki Jheel GK Hindi 2024

नक्की झील का सामान्य ज्ञान Nakki Jheel GK Hindi 2024 आज के आर्टिकल में हम राजस्थान की प्रसिद्ध नक्की...