Buy now

सतिया अमावस्या का त्योहार कब मनाया जाता है ?

सतिया अमावस्या का त्योहार कब मनाया जाता है ?

सतिया अमावस्या का त्योहार कब मनाया जाता है ? व सतिया अमावस्या कब मनाई जाती है ? तथा सतिया अमावस्या के दिन किसकी पूजा की जाती है ?

सतिया अमावस्या का त्योहार कब मनाया जाता है ?
सतिया अमावस्या का त्योहार कब मनाया जाता है ?

सतिया अमावस्या का त्योहार कब मनाया जाता है ?

हिंदू कैलेंडर के अनुसार भाद्रपद माह की अमावस्या तिथि के दिन सतिया अमावस्या का त्योहार मनाया जाता है। भाद्रपद माह की अमावस्या तिथि के दिन मनाए जाने वाले इस त्योहार का विशेष महत्व होता है।

सतिया अमावस्या के दिन सती होने वाली महिलाओं की पूजा आराधना की जाती है। इस दिन राजस्थान राज्य के झुंझुनू जिले में स्थित लोहागढ़ नामक स्थान पर मेले का आयोजन भी होता है इस मेले का आयोजन सती होने वाली महिलाओं की स्मृति में ही किया जाता है।

सतिया अमावस्या को आयोजित होने वाले इस मेले में 24 कोस की परिक्रमा श्रद्धालु करते हैं। ऐसी मान्यता है कि इस परिक्रमा को पूर्ण करने वाले जातकों की मनोकामनाएं पूरी होती है तथा जो महिलाएं इस परिक्रमा को करती है उन महिलाओं के प्रति की दीर्घायु होती है।

यह भी जानें ऊब छट (हल छट) का व्रत कब और क्यों किया जाता है ?

सतिया अमावस्या का दिन सती होने वाली महिलाओं तथा महासती और आसती होने वाली महिलाओं को समर्पित होता है इस दिन को संपूर्ण भारत के अंदर बहुत ही अच्छे और सुव्यवस्थित तरीके से मनाया जाता है।

सतिया अमावस्या के दिन वस्त्र दान करने तथा गायों को चारा खिलाने का विशेष महत्व होता है। इस दिन जो भी जातक वस्त्र दान करता है और गायों को चारा खिलाते है उस जातक को उच्च फल की प्राप्ति होती है।

सतिया अमावस्या के दिन मुख्य रूप से संपल कवर , रानी उमादे , केसर कंवर तथा घेवर माता की पूजा की जाती है क्योंकि इन सभी माताओं की आराधना के अंदर ही राजस्थान के झुंझुनू जिले में मेले का आयोजन होता है।

यह भी जानें सोमवार व्रत पूजा विधि , सोमवार को भोलेनाथ की पूजा कैसे करें

राजस्थान में आयोजित होने वाले सतिया अमावस्या के मेले में राजस्थान सहित भारत के अनेक राज्यों से श्रद्धालु आते हैं।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles