Buy now

काल भैरव की पूजा विधि , Kaal Bhairav Ki Puja Vidhi

काल भैरव की पूजा विधि , Kaal Bhairav Ki Puja Vidhi

काल भैरव की पूजा विधि , Kaal Bhairav Ki Puja Vidhi तथा काल भैरव की पूजा क्यों की जाती है और काल भैरव की पूजा कैसे की जाती है।

काल भैरव की पूजा विधि , Kaal Bhairav Ki Puja Vidhi
काल भैरव की पूजा विधि , Kaal Bhairav Ki Puja Vidhi

काल भैरव की पूजा विधि , Kaal Bhairav Ki Puja Vidhi

काल भैरव की पूजा करने के लिए सुबह उठते ही सर्वप्रथम अपने मन के अंदर काल भैरव को याद करें एवं उनसे प्रार्थना करें।

काल भैरव की पूजा करने के लिए सुबह उठने के बाद अच्छी तरीके से स्नान करें एवं साफ-सुथरे वस्त्र धारण करके काल भैरव के मंदिर के अंदर जाए।

उसके बाद काल भैरव की पूजा करने के लिए काल भैरव की मूर्ति के सामने जाकर बैठे हैं एवं काल भैरव की मूर्ति के ऊपर प्रसाद चढ़ाएं।

यह भी जानें सावन सोमवार व्रत पूजा विधि | Sawan Somvar Vrat Puja Vidhi

काल भैरव की पूजा करने के लिए मूर्ति के ऊपर जल चढ़ाएं एवं मूर्ति के सामने धूप सदैव एवं काल भैरव से प्रार्थना करें।

उसके बाद काल भैरव की पूजा करने के लिए काल भैरव की मूर्ति के चारों तरफ चक्कर लगाए एवं काल भैरव से प्रार्थना करें जो आपको मन्नत माननी है वह काल भैरव से मांगे।

काल भैरव देवता एक बहुत ही चमत्कार के क्षेत्र में चर्चित लोक देवता के रूप में माने जाते हैं काल भैरव की पूजा की जाती है।

काल भैरव की पूजा हिंदू धर्म के अंदर बहुत ही अच्छी तरीके से की जाती है एवं काल भैरव से जो भी मन्नत मांगी जाती है वह काल भैरव पूरी करते हैं।

यह भी जानें मंगलवार व्रत पूजा विधि , Mangalvar Vrat Puja Vidhi

काल भैरव हमेशा अपने भक्तों के ऊपर अपना आशीर्वाद हर समय हर वक्त कैसी भी परिस्थिति हो बनाए रखते हैं और उनकी काल भैरव हमेशा रक्षा करते हैं।

काल भैरव के भक्तों के लिए हमेशा अपने दरवाजे खुले रखते हैं और काल भैरव भक्तों को हमेशा खुश रखते हैं काल भैरव अपने भक्तों के लिए हमेशा सुख देते हैं।

काल भैरव को हिंदू धर्म के अंदर बहुत ही ज्यादा माना जाता है क्योंकि काल भैरव के चमत्कार भी बहुत ज्यादा है और काल भैरव को आज के समय के अंदर हिंदू धर्म के अंदर लोक देवता के रूप में भी जाना जाता है।

यह भी जानें शमी वृक्ष की पूजा विधि | Shami Vriksh Ki Puja Vidhi | Shami Puja Kaise Kare

काल भैरव की पूजा करने के लिए जिन लोगों के घर के पास काल भैरव का मंदिर नहीं होता है वह दूर दूर कहीं पर भी काल भैरव का मंदिर होता है वहां पर जाते हैं और पूजा अर्चना करके काल भैरव की आते है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles