Buy now

सावन सोमवार व्रत पूजा विधि | Sawan Somvar Vrat Puja Vidhi

सावन सोमवार व्रत पूजा विधिn| Sawan Somvar Vrat Puja Vidhi

सावन के सोमवार का व्रत भगवान शिव जी को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है आज हम आपको बताएंगे सावन सोमवार व्रत पूजा विधि | Sawan Somvar Vrat Puja Vidhi

सावन सोमवार व्रत पूजा विधि | Sawan Somvar Vrat Puja Vidhi
सावन सोमवार व्रत पूजा विधि | Sawan Somvar Vrat Puja Vidhi

सावन सोमवार व्रत पूजा विधि | Sawan Somvar Vrat Puja Vidhi

सावन का महीना भगवान शिव की पूजा उपासना करने के लिए सबसे उत्तम माना जाता है। इस महीने के प्रत्येक सोमवार के दिन भगवान शिव के भक्त उनका व्रत करते हैं और अपनी मनोकामनाएं भगवान शिव के समक्ष रखते हैं।

सोमवार के दिन भगवान शिव का व्रत करते समय शिव जी की, पार्वती जी नदियों के जल, दूध, दही, घी, शहद, पंचामृत, भांग मौली, चंदन, रोली, चावल, फूल, दुर्बा, बेलपत्र, धतूरा इत्यादि से पूजा-अर्चना करनी चाहिए।

इस दिन भगवान शिव की पंचमेवा प्रसाद , फल, पान, लोंग, सुपारी, इलाइची तथा कमलगट्टे से पूजा करनी चाहिए और भगवान शिव को धूपबत्ती करने के बाद दक्षिणा चढ़ानी चाहिए। तथा धूपबत्ती और कपूर के साथ भगवान शिव तथा माता पार्वती की आरती करनी चाहिए।

यह भी जानें निर्जला एकादशी पूजा विधि | Nirjala ekadashi Puja Vidhi

सोमवार की व्रत के दौरान भगवान शिव की आरती करने के बाद में भोजन करना चाहिए और किसी ब्राह्मण से भगवान शिव की आराधना में कोई भी पाठ करवाना चाहिए तथा रात्रि के दिन जागरण करवाना चाहिए। यदि कोई जातक जागरण करवाने में सक्षम होता है तो ऐसा जातक भगवान शिव की चालीसा का पाठ करके भी जागरण जितना ही फल प्राप्त कर सकता है।

सावन के प्रत्येक सोमवार के दिन यदि व्यक्ति इस पूजा विधि से भगवान शिव की पूजा आराधना करता है तो ऐसे व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है और भगवान शिव उसे शीघ्र ही प्रसन्न होकर अपनी कृपा भक्तों के ऊपर बरसाने लगते हैं।

सावन के प्रथम सोमवार के दिन भगवान शिव को सफेद फूल और बेलपत्र के पत्ते चढ़ाना अति उत्तम होता है धार्मिक ग्रंथों में वर्णित है कि भगवान शिव को जल्दी से जल्दी प्रसन्न करने के लिए सफेद फूल और बेलपत्र के पत्ते चढ़ाने चाहिए।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles