Buy now

Sapne me hathi dekhna । सपने में हाथी देखना शुभ या अशुभ

Sapne me hathi dekhna । सपने में हाथी देखना शुभ या अशुभ

Sapne me hathi dekhna । सपने में हाथी देखना शुभ या अशुभ, सपने में हाथी से डरने का मतलब , सपने में हाथी देखना शुभ है या अशुभ, Sapne Me hathi dekhna Shubh Hain ya Ashubh , सपने में हाथियों की लड़ाई देखना , सपने में हाथी तथा हाथिन का जोड़ा देखना , सपने में मरा हुआ हाथी देखना

Sapne me hathi dekhna । सपने में हाथी देखना शुभ या अशुभ
Sapne me hathi dekhna । सपने में हाथी देखना शुभ या अशुभ

अक्सर हम सपने देखते हैं कभी डरावने सपने देखते हैं तो कभी मन को प्रफुल्लित करने वाले सपने देखते हैं तथा सपने में कई प्रकार के जानवरों को भी देखते हैं। और इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे सपने में हाथी देखने का मतलब क्या होता है तथा सपने में हाथी देखना शुभ होता है या अशुभ।

वास्तु शास्त्र की दृष्टि से सपने में हाथी देखना अत्यंत ही शुभ होता है। सपने में हाथी देखने का मतलब होता है कि अब आपके किसी भी कार्य में यदि कोई भी बाधा आ रही है तो उन बाधाओं से आपक मुक्ति मिलेगी तथा आपका कार्य अधिक प्रगतिशील बनेगा।

जब हम सपने में किसी हाथी को चिंघाड़ता हुआ देखते हैं तो इसका मतलब होता है कि अब आपके सभी शत्रु पराजित होंगे तथा आपका समाज में मान सम्मान और गौरव बढ़ेगा।

यह भी पढ़ें सपने में कुत्ता देखने का मतलब , अर्थ , मायने , रहस्य

सपने में हाथियों की लड़ाई देखने का मतलब होता है कि अब आपके शत्रु जो आपसे जगन्ना चाहते हैं उनको आप पराजित करेंगे तथा आप के मान सम्मान और यश में वृद्धि होगी।

सपने में हाथी को देखना भगवान गणेश के साक्षात दर्शन करने के समान माना जाता है। क्योंकि हाथी और भगवान गणेश का स्वरूप एक जैसा ही है।

सपने में हाथी तथा हाथिन का जोड़ा देखना वास्तु शास्त्र के अनुसार अति उत्तम माना जाता है क्योंकि जिस भी जातक को सपने में हाथी तथा हाथिन का जोड़ा दिखाई देता है उसकी शीघ्र ही शादी हो जाती है तथा दांपत्य जीवन में खुशियां बनी रहती है।

यह भी पढ़ें सपने में बंदर देखना , सपने में बंदर देखने का मतलब

सपने में मरा हुआ हाथी देखना वास्तु शास्त्र की दृष्टि से अशुभ माना जाता है इसका मतलब होता है कि भगवान गणेश आपसे प्रसन्न नहीं है इसलिए भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए उनके प्रिय मोदक का भोग उन्हें लगाए।

Disclaimer- सपने से संबंधित यह जानकारी हमारे द्वारा विभिन्न वास्तु शास्त्र ओके स्त्रोतों के माध्यम से प्राप्त करके आपके साथ साझा की गई है यदि इसमें किसी भी प्रकार की त्रुटि होती है तो इसके लिए Gaanvkhabar जिम्मेदार नहीं होगा।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles