Buy now

रुद्राक्ष धारण करने के नियम | Rudraksha Dharan Karne Ke Niyam

रुद्राक्ष धारण करने के नियम | Rudraksha Dharan Karne Ke Niyam

इस लेख में हम आपको बताएंगे रुद्राक्ष धारण करने के नियम | Rudraksha Dharan Karne Ke Niyam , रुद्राक्ष कैसे धारण करें , रुद्राक्ष धारण करने का तरीका , रुद्राक्ष धारण करने की विधि से संबंधित विस्तृत जानकारी।

रुद्राक्ष धारण करने के नियम | Rudraksha Dharan Karne Ke Niyam
रुद्राक्ष धारण करने के नियम | Rudraksha Dharan Karne Ke Niyam
रुद्राक्ष धारण करने के नियम | Rudraksha Dharan Karne Ke Niyam

रुद्राक्ष धारण करते समय हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि रुद्राक्ष को या तो लाल रंग के धागे में पिरो कर धारण करना चाहिए अन्यथा सोने या चांदी के तार में पिरो कर रुद्राक्ष धारण करना चाहिए।

रुद्राक्ष को पहनने से पूर्व उसको पंचतत्व यानी कि घी, दूध, शहद, गंगाजल इत्यादि से पवित्र करके ही पहनना चाहिए।

रुद्राक्ष धारण करने के पश्चात कभी भी किसी भी कारणवश यदि आपको किसी व्यक्ति के अंत्येष्टि में जाना हो तो रुद्राक्ष को उतार कर ही जाना चाहिए क्योंकि रुद्राक्ष को श्मशान घाट ले जाना अशुभ माना जाता है।

यह भी पढ़ें राशि अनुसार रोग निवारण के उपाय , Rashi Anusar Rog Nivaran Ke Upay

जिस किसी भी घर में नवजात शिशु का जन्म होता है तो उस समय रुद्राक्ष धारण नहीं करना चाहिए शिशु के जलवा पूजन के बाद ही उस घर का कोई भी व्यक्ति रुद्राक्ष धारण कर सकता है।

महिलाओं को रक्त स्त्राव के समय रुद्राक्ष धारण नहीं करना चाहिए ऐसा करने से रुद्राक्ष का प्रभाव कम होता है तथा धारण करने वाली महिलाओं को अनेक प्रकार की परेशानी आती है।

कभी भी रुद्राक्ष को शुद्ध किए बिना धारण नहीं करना चाहिए रुद्राक्ष को हमेशा शुद्ध करके ही धारण करना चाहिए।

यह भी पढ़ें सुबह उठते ही क्या नहीं देखना चाहिए | subah uthate hi kya Nahin dekhna chahiye

रुद्राक्ष धारण करते समय भगवान शिव की प्रार्थना करनी चाहिए तथा ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप करना चाहिए ऐसा करने से रुद्राक्ष का प्रभाव अधिक होता है और व्यक्ति की शारीरिक कमजोरियां तथा आर्थिक तंगी दूर होती है।

रुद्राक्ष को भूलकर भी काले धागे के अंदर धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से रुद्राक्ष बेकार हो जाता है हो सके तो रुद्राक्ष को पीले धागे , लाल धागे अन्यथा सोने, चांदी के तार में ही धारण करना चाहिए।

एक बार रुद्राक्ष धारण करने के बाद अपना रुद्राक्ष किसी भी दूसरे व्यक्ति के साथ साझा नहीं करना चाहिए ऐसा करने से भी रुद्राक्ष का प्रभाव कम हो जाता है तथा किसी भी व्यक्ति को अपने रुद्राक्ष को छूने नहीं देना चाहिए।

यह भी पढ़ें घर के मुख्य दरवाजे के लिए जरूरी वास्तु उपाय | important vastu tips home men gate

रुद्राक्ष धारण करने की सही विधि उसको पंचतत्व में विलीन करके तथा लाल धागे में पिरो कर पहनना होता है ऐसे रुद्राक्ष धारण करने से उसका प्रभाव अधिक होता है और सभी प्रकार के संकट भी दूर होते हैं।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles