Homeरुद्राक्षपंद्रह मुखी रुद्राक्ष धारण विधि , 15 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi

पंद्रह मुखी रुद्राक्ष धारण विधि , 15 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi

Date:

पंद्रह मुखी रुद्राक्ष धारण विधि , 15 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi

पंद्रह मुखी रुद्राक्ष धारण विधि , 15 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi तथा पंद्रह मुखी रुद्राक्ष कब धारण करें और 15 मुखी रुद्राक्ष कैसे धारण करना चाहिए से संबंधित विस्तृत जानकारी।

पंद्रह मुखी रुद्राक्ष धारण विधि , 15 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi
पंद्रह मुखी रुद्राक्ष धारण विधि , 15 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi

पंद्रह मुखी रुद्राक्ष धारण विधि , 15 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi

पंद्रह मुखी रुद्राक्ष धारण विधि निम्नानुसार है-

15 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के लिए सर्वप्रथम सुबह जल्दी उठकर स्नान करें एवं महादेव जी के वस्त्र धारण करें जिन पर महाकाल महादेव ऐसा लिखा हुआ हो।

उसके बाद पंच ब्राह्मण एवं पांच स्वामी को बुलाएं और उन्हें भरपेट खाना खिलाया और उनकी सारी जरूरत है पूरी करें और उन्हें खुश करें।

15 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के लिए रुद्राक्ष को एक बार शिवलिंग के ऊपर समर्पित कर दें और फिर बाद में एक घंटे या 2 घंटे तक 15 मुखी रुद्राक्ष को शिवलिंग के ऊपर ही रहने दें।

यह भी जानें सर्प मुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि

उसके बाद 15 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के लिए 15 मुखी रुद्राक्ष को गंगाजल या फिर किसी पवित्र गंगाजल से अच्छी तरीके से दोहे जो पवित्र हो जाए रुद्राक्ष क्योंकि हिंदू धर्म के अंदर किसी भी चीज को पवित्र करने के लिए गंगाजल से धोना जरूरी माना जाता है।

उसके बाद गंगाजल से धुले हुए 15 मुखी रुद्राक्ष को महादेव जी की मूर्ति के सामने रख दें एवं बाद में 15 मुखी रुद्राक्ष के पास जाकर महादेव जी से प्रार्थना करें।

उसके बाद 15 मुखी रुद्राक्ष को अपने गले के अंदर या फिर हाथ पर पहना जाता है कि गले के अंदर अगर रुद्राक्ष पहना जाता है तो वह बहुत ही अच्छा होता है गले के अंदर रुद्राक्ष को अपने हृदय के बराबर आने पर ही पहनें।

यह भी जानेंNau Mukhi Rudraksha Ke Fayde | नौ मुखी रुद्राक्ष के फायदे

रुद्राक्ष को हमेशा लाल धागे से ही पहने काले धागे से ना पहने क्योंकि हिंदू धर्म के अंदर माना जाता है कि रुद्राक्ष को लाल धागे से पहना जाता है तो बहुत ही अच्छा होता है।

15 मुखी रुद्राक्ष होने के बाद रुद्राक्ष धारण करने वाला कभी भी मांसाहारी भोजन ना लें क्योंकि मांसाहारी भोजन रुद्राक्ष के नियमों के विरुद्ध माना जाता है इसलिए रुद्राक्ष धारण करने वाला कभी भी मांसाहारी भोजन ना खाए।

रुद्राक्ष को धारण करने के बाद रुद्राक्ष धारण करने वाला कभी भी शराब न पिए क्योंकि शराब पीना भी रुद्राक्ष के नियमों के विरूद्ध में क्लियर प्रसारण करने वाला रुद्राक्ष धारण करने के बाद कभी भी शराब का सेवन ना करें।

यह भी जानें 8 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi | आठ मुखी रुद्राक्ष धारण विधि

माना जाता है कि रुद्राक्ष धारण करने के बाद मंकी और टंकी कई ऐसी बीमारियां हैं जिनका रुद्राक्ष धारण करने के बाद अपने आप इलाज होता और वह फिर बाद में बीमारियां कभी नहीं होती है इसलिए रुद्राक्ष को बहुत ही ज्यादा पवित्र माना जाता ह

हमने आपको इस लेख के माध्यम से बताने की कोशिश की कि 15 मुखी रुद्राक्ष कैसे धारण किया जाता है 15 मुखी रुद्राक्ष धारण करने के क्या कारण है 15 मुखी रुद्राक्ष धारण के सहित क्या तरीके है क्या उपाय हैं यह सारी जानकारी हमने आपको इस लेख के माध्यम से बदलने की कोशिश की।

Related stories

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories