Buy now

लोक देवता भूरिया बाबा का जीवन परिचय 2024 | lok Devta bhuriya Baba Biography in Hindi

लोक देवता भूरिया बाबा का जीवन परिचय 2024 | lok Devta bhuriya Baba Biography in Hindi

लोक देवता भूरिया बाबा का जीवन परिचय 2024 | lok Devta bhuriya Baba Biography in Hindi , भूरिया बाबा किस जनजाति के आराध्य देवता है ? , मीणा जनजाति किस बाबा की झूठी कसम नहीं खाती ?

लोक देवता भूरिया बाबा का जीवन परिचय 2024 | lok Devta bhuriya Baba Biography in Hindi
लोक देवता भूरिया बाबा का जीवन परिचय 2024 | lok Devta bhuriya Baba Biography in Hindi

लोक देवता भूरिया बाबा का जीवन परिचय 2024 | lok Devta bhuriya Baba Biography in Hindi

लोक देवता भूरिया बाबा को शौर्य का प्रतीक माना जाता है। भूरिया बाबा ने जनजातीय को विकसित करने तथा उनको शिक्षित बनाने के लिए अनेक प्रयास किये। भूरिया बाबा को संपूर्ण राजस्थान में जनजाति उत्थान का पर्याय माना जाता है।

भूरिया बाबा किस जनजाति के आराध्य देवता है ? 

लोक देवता भूरिया बाबा राजस्थान की सबसे शिक्षित जनजाति यानी कि मीणा जनजाति के आराध्य देवता है। मीणा जनजाति कोई भी कार्य संपन्न करने से पूर्व इनकी पूजा आराधना करती है।

मीणा जनजाति किस बाबा की झूठी कसम नहीं खाती ?

राजस्थान में सर्वाधिक मात्रा में रहने वाली मीणा जनजाति कभी भी भूरिया बाबा की झूठी कसम नहीं खाती है।

लोक देवता भूरिया बाबा का वास्तविक नाम क्या है ?

मीणा जनजाति के आराध्य लोक देवता भूरिया बाबा का वास्तविक नाम गौतमेश्वर है।

भूरिया बाबा का मुख्य मंदिर कहां स्थित है ?

भूरिया बाबा का मुख्य यानी की प्रमुख मंदिर राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले के अरनोद के निकट गौतमेश्वर नामक स्थान पर बना हुआ है।

भूरिया बाबा का दूसरा मंदिर कहां स्थित है ?

भूरिया बाबा का दूसरा और प्रमुख मंदिर पोसालिया (सिरोही) में स्थित है। इस मंदिर के निकट से ही सुकड़ी नदी प्रवाहित होती है। जिसे गोड़वाड़ क्षेत्र में निवास करने वाली मीणा जनजाति पतित गंगा यानी की पवित्र गंगा के रूप में पूजती है।

तथा इस मंदिर के निकट ही एक पवित्र जलकुंड स्थित है, जिसमें गोड़वाड़ क्षेत्र में निवास करने वाली मीणा जनजाति अपने पूर्वजों की अस्थियों विसर्जन करती है।

भूरिया बाबा का मेला कब और कहां लगता है ?

लोक देवता भूरिया बाबा का मेला प्रतिवर्ष वैशाख पूर्णिमा के दिन प्रतापगढ़ के गोतमेश्वर स्थान तथा सिरोही जिले के पोसालिया नामक स्थान पर लगता है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles