Buy now

बृजेंद्र सिंह चौधरी का जीवन परिचय, Biography of Brijendra Singh Choudhary 2023

बृजेंद्र सिंह चौधरी का जीवन परिचय, Biography of Brijendra Singh Choudhary 2023

आज हम इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कबड्डी प्लेयर बृजेंद्र सिंह चौधरी का जीवन परिचय (Biography of Brijendra Singh Choudhary)। बृजेंद्र सिंह चौधरी का जन्म कब और कहां हुआ तथा उनके माता-पिता का क्या नाम है? जानिए इस आर्टिकल में।

बृजेंद्र सिंह चौधरी का जीवन परिचय, Biography of Brijendra Singh Choudhary 2023
बृजेंद्र सिंह चौधरी का जीवन परिचय, Biography of Brijendra Singh Choudhary 2023

बृजेंद्र सिंह चौधरी का जीवन परिचय

6 जुलाई 1997 को राजस्थान के जयपुर जिले के सारंग का बास गांव में किसान परिवार में जन्मे बृजेंद्र सिंह चौधरी ने अपने गांव के खेतों से कबड्डी खेलने की शुरुआत की,

बृजेंद्र ने कभी भी अपनी कामयाबी में संसाधनों की कमी को मुद्दा नहीं बनने दिया बल्कि संसाधनों की कमी के बावजूद बृजेंद्र ने अपने लक्ष्य से निगाहें नहीं हटाई। और अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए दिन-रात भरसक प्रयास किया। लेकिन बृजेंद्र कबड्डी खेलने के शौक से उनके पिता लच्छूराम खफा थे।

यह भी पढ़ें राजस्थानी भाषा (Rajasthani language in Hindi)

क्योंकि कबड्डी के खेल में बृजेंद्र को हर रोज चोटें आती रहती थी इसलिए उनके पिता लच्छूराम नहीं चाहते थे कि उनका इकलौता बेटा रोज-रोज चोट से जूझता रहे।

कभी-कभी बृजेंद्र को कबड्डी खेल कर आने में रात के 11:00 बज जाते थे और कभी अल सुबह 4:00 बजे ही अपने लक्ष्य को पाने की फिराक में खेल मैदान की ओर रुख करना पड़ता था।

इसलिए हर रोज बृजेंद्र को अपने पिता की डांट सुननी पड़ती थी कई-कई बार तो बृजेंद्र की माता फूली देवी भी उनके बचाव में उतर जाती थी।

बरहाल बृजेंद्र सिंह चौधरी के सामने समस्याएं अनेक रही हो लेकिन बृजेंद्र के हौसले और जज्बे के आगे सारी समस्याएं फीकी ही नजर आती है।

बृजेंद्र सिंह चौधरी का कबड्डी करियर परवान पर पहली बार 2018 में चढ़ा जब उनको राजस्थान से राष्ट्रीय कबड्डी टीम में खेलने का मौका मिला।

Visit now: Twitter

बृजेंद्र ने इसके बाद कभी भी अपने जीवन में पीछे मुड़कर नहीं देखा और दिन-ब-दन कामयाबी के शिखर को छुआ।क्षइसके बाद दो बार फिर बृजेंद्र का राजस्थान से राष्ट्रीय कबड्डी टीम के लिए नाम चयनित हुआ।

और जब पहली बार बृजेंद्र सिंह चौधरी को जयपुर पिंक पैंथर्स ने अपने छठे सीजन में खेलने के लिए मौका दिया तो बृजेंद्र की खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा।

लेकिन दुर्भाग्यवश दो दिन पहले ही बृजेंद्र के घुटने में चोट आने के कारण उन्हें पिंक पैंथर में भी डगआउट में बैठे रहना पड़ा।

इसके बावजूद भी बृजेंद्र ने कभी अपने हौसले और जज्बे को कम नहीं होने दिया बल्कि दुगनी ताकत और हौसले के साथ प्रयास जारी रखा और इसी प्रयास के फलस्वरूप 2022 में उन्हें हरियाणा स्टीलर्स में 55 लाख में खरीदा।

यह भी पढ़ें राजस्थान की हस्तकला (handicraft of Rajasthan in Hindi)

किंतु यहां भी एक बार फिर भाग्य को किस्मत ने धोखा दिया और हरियाणा स्टीलर्स ने बृजेंद्र सिंह चौधरी को अनफिट करार देते हुए अपनी टीम से बेदखल कर दिया।

इस सारे घटनाक्रम से बृजेंद्र को गहरा धक्का पहुंचा लेकिन फिर भी गांव के खेतों की मेड़ों पर कबड्डी खेलने वाला अदतन-सा लड़का कहां हिम्मत हारने वाला था।

जैसे ही बृजेंद्र को हरियाणा स्टीलर्स ने अनफिट करार दिया वैसे ही बृजेंद्र सिंह चौधरी को एक बार फिर जयपुर पिंक पैंथर्स ने खेलने का अवसर प्रदान किया।

और बृजेंद्र ने जयपुर पिंक पैंथर्स की ओर प्रो कबड्डी के आठवीं सीजन में खेलते हुए बहुत ही दमदार और बेहतरीन प्रदर्शन किया और विरोधियों के मुंह पर गहरा तमाचा जड़ा।

किरोड़ी लाल मीणा का जीवन परिचय (Biography of kirodi lal Meena)

और अपनी मेहनत और हौसले के बलबूते पर कबड्डी में नित नए आयाम स्थापित किए। वर्तमान में भी बृजेंद्र सिंह चौधरी राजस्थान की राष्ट्रीय टीम के सदस्य हैं उनका वजन 80 किलो तथा हाइट 8 फुट 4 इंच है।

आपको हमारे द्वारा बताया गया बृजेंद्र सिंह चौधरी का जीवन परिचय कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles