Buy now

असली रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें | Asli Rudraksh Ki Pehchan Kaise Kare

असली रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें | Asli Rudraksh Ki Pehchan Kaise Kare

असली रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें | Asli Rudraksh Ki Pehchan Kaise Kare , रुद्राक्ष असली है या नकली कैसे पहचानें , रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें , नकली रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें , असली रुद्राक्ष की पहचान करने के तरीके , असली रुद्राक्ष पहचान किस तरीके से करें

असली रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें | Asli Rudraksh Ki Pehchan Kaise Kare
असली रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें | Asli Rudraksh Ki Pehchan Kaise Kare
असली रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें | Asli Rudraksh Ki Pehchan Kaise Kare

जानिए असली रुद्राक्ष की पहचान करने के कुछ आसान तरीके-

  • असली रुद्राक्ष की पहचान करने के लिए सर्वप्रथम 2 सिक्के लेकर एक सिक्के को धरातल पर रखना चाहिए तथा उसके मध्य में रुद्राक्ष को रखना चाहिए तत्पश्चात दूसरे सिक्के को रुद्राक्ष ठीक ऊपर रखना चाहिए अगर ऐसा करते समय आपको चुंबकीय बल का आभास होता है और रुद्राक्ष घूमता है तो इसका मतलब होता है कि यह रुद्राक्ष असली है।
  • असली रुद्राक्ष को जब पानी में डाला जाता है तो वो तैरने लगता है जबकि नकली रुद्राक्ष पानी के अंदर डूब जाता है। और रुद्राक्ष यदी पानी के अंदर रंग छोड़ता है तो इसका मतलब रुद्राक्ष असली है और रंग नहीं छोड़ता है तो इसका मतलब रुद्राक्ष नकली है।
  • असली रुद्राक्ष की पहचान करने का एक आसान तरीका यह भी होता है कि जब हम रुद्राक्ष को सरसों के तेल के भीतर डालते हैं तो उसका रंग गहरा हो जाता है गहरे रंग का मतलब होता है कि रुद्राक्ष असली है और यदि रंग गहरा नहीं होता है तो रुद्राक्ष नकली होता है।
  • यह भी पढ़ें रुद्राक्ष धारण करने के नियम | Rudraksha Dharan Karne Ke Niyam
नकली रुद्राक्ष की पहचान कैसे करें
  • यदि आप जब कभी भी रुद्राक्ष खरीदते हैं तो उस रुद्राक्ष का रंग काला तथा गहरा भूरा होता है तो ध्यान रहे इस प्रकार का रुद्राक्ष नकली होता है क्योंकि रुद्राक्ष का रंग काला तथा भुरा तब होता है जब उसका इस्तेमाल कर लिया जाता है।
  • रुद्राक्ष खरीदते समय यदि रुद्राक्ष के ऊपर वाले हिस्से एक समान होते हैं तो इसका मतलब होता है कि रुद्राक्ष नकली है और ऊपर वाले हिस्से अलग-अलग तरह के होते हैं तो इसका मतलब होता है कि रुद्राक्ष असली है।
  • जिस रुद्राक्ष का उभार वाला भाग नुकिला होता है उसे असली रुद्राक्ष माना जाता है तथा इस रुद्राक्ष का उभार वाला भाग चपटा तथा समतल हो उसे नकली रुद्राक्ष माना जाता है।
  • यह भी पढ़ें रुद्राक्ष क्या होता है | Rudraksh kya hai
  • जो रुद्राक्ष अपने पूर्ण रूप में होता है तथा किसी भी प्रकार से खंडित नहीं होता है और किसी भी किडे़ के द्वारा काटा हुआ नहीं होता है तो इसका मतलब होता है कि रुद्राक्ष असली है और जो खंडित होता है उसे नकली माना जाता है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles