Buy now

लोक देवता अमराजी भगत का जीवन परिचय 2024 | lok Devta amraji Bhagat Biography in Hindi

लोक देवता अमराजी भगत का जीवन परिचय 2024 | lok Devta amraji Bhagat Biography in Hindi

लोक देवता अमराजी भगत का जीवन परिचय 2024 | lok Devta amraji Bhagat Biography in Hindi , अमराजी भगत के उपनाम , अमराजी भगत का जन्म कहां हुआ ? , लोक देवता अमराजी भगत का समाधि स्थल कहां है ?

लोक देवता अमराजी भगत का जीवन परिचय 2024 | lok Devta amraji Bhagat Biography in Hindi
लोक देवता अमराजी भगत का जीवन परिचय 2024 | lok Devta amraji Bhagat Biography in Hindi

लोक देवता अमराजी भगत का जीवन परिचय 2024 | lok Devta amraji Bhagat Biography in Hindi

भारत के राजस्थान राज्य को वीरों की धरती तथा लोक देवताओं की धरती के नाम से जाना जाता है इसी धरती पर लोक देवता अमराजी भगत का जन्म हुआ था। अमराजी भगत राजस्थान के एकमात्र ऐसे लोक देवता है जिन्हें लोकसंत तथा लोक देवता दोनों के रूप में पूजा जाता है।

अमराजी भगत के उपनाम

लोक देवता अमराजी भगत को मेवाड़ क्षेत्र के लोग अनगढ़ बाबूजी के उपनाम से संबोधित करते हैं। तथा इनके अन्य अनुयायी इनको बावजी भी कहते हैं।

अमराजी भगत का जन्म कहां हुआ ? 

लोक देवता अमराजी भगत का जन्म राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले की भदेसर तहसील के नरबदिया गांव में हुआ था।

लोक देवता अमराजी भगत का समाधि स्थल कहां है ?

अमराजी भगत के जन्म स्थल नरबदिया गांव (भदेसर तहसील) चित्तौड़गढ़ जिले में इनका समाधि स्थल बना हुआ है।

लोक देवता अमराजी भगत का पैनोरमा कब और कहां स्थापित किया गया ?

अमरा जी भगत के द्वारा किए गए अच्छे कार्यों के लिए राजस्थान सरकार ने वर्ष 2022 में नरबदिया गांव (भदेसर तहसील) चित्तौड़गढ़ जिले में इनका पैनोरमा स्थापित किया गया है।

अमराजी भगत मुख्यतः किस क्षेत्र के लोक देवता है ?

अमराजी भगत मुख्यतः राजस्थान के मेवाड़ क्षेत्र के लोक देवता है। अमराजी भगत की मान्यता मुख्य रूप से राजस्थान के चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा, राजसमंद तथा अजमेर जिले में है। इन जिलों में इनको अत्यधिक प्रतिष्ठा प्राप्त है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles