एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि | 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi

Date:

Share post:

एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि | 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi

हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि | 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi व एक मुखी रुद्राक्ष कैसे धारण किया जाता है तथा एक मुखी रुद्राक्ष कितने दिन में असर दिखाता है व एक मुखी रुद्राक्ष का मंत्र।

एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि | 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi
एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि | 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi
एक मुखी रुद्राक्ष धारण विधि | 1 Mukhi Rudraksha Dharan Vidhi / एक मुखी रुद्राक्ष कैसे धारण किया जाता है ?
  • एक मुखी रुद्राक्ष को हमेशा सोने या चांदी के तार में अन्यथा लाल धागे के अंदर ही धारण करना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से इस रुद्राक्ष की शक्ति बढ़ जाती है।
  • एक मुखी रुद्राक्ष को महाशिवरात्रि के दिन धारण करना सर्वोत्तम होता है। इसके अतिरिक्त इसको रविवार तथा सोमवार के दिन भी धारण किया जा सकता है।
  • एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से पूर्व गंगा जल तथा दूध से शुद्ध करके भगवान सूर्य देव को तांबे के पात्र में जल अर्पण तथा लाल फूल अर्पण करने चाहिए।
  • यह भी पढ़ें एक मुखी रुद्राक्ष के फायदे | Ek Mukhi Rudraksha Ke Fayde
  • इसके बाद एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के लिए ओम ही नमः मंत्र का 108 बार जाप करना चाहिए इसके अलावा ओम नमः शिवाय मंत्र का वीजा किया जा सकता है।
  • इस तरह 1 मुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि पूर्ण होती है इसके बाद उत्तर तथा पूर्व दिशा की ओर अपना मुंह करके भगवान शिव तथा सूर्य का ध्यान करते हुए एक मुखी रुद्राक्ष को धारण कर लेना चाहिए।

 एक मुखी रुद्राक्ष कितने दिन में असर दिखाता है ?

एक मुखी रुद्राक्ष सामान्यत: 21 दिन में अपना असर दिखाना प्रारंभ कर देता है किंतु कुंभ धनु तथा मेष राशि के जातकों पर यह रुद्राक्ष धारण करते ही शीघ्र ही अपना प्रभाव दिखाने लगता है क्योंकि इन राशि वालों के लिए यह रुद्राक्ष अनुकूल होता है।

यह भी पढ़ें रुद्राक्ष धारण करने के नियम | Rudraksha Dharan Karne Ke Niyam

यदि बार-बार प्रयास करने के बाद भी रुद्राक्ष अपना असर नहीं दिखाता है तो इसके लिए रुद्राक्ष को प्रतिदिन धारण करने से पूर्व गंगाजल से शुद्ध करना चाहिए ताकि रुद्राक्ष की शक्ति बनी रहे।

 एक मुखी रुद्राक्ष का मंत्र

एक मुखी रुद्राक्ष का मंत्र ओम ही नमः तथा ओम नमः शिवाय होता है। यदि आपको ऐसा लगता है कि अब आपके रुद्राक्ष की शक्ति समाप्त हो रही है तो आपको प्रतिदिन 108 बार इस मंत्र का जाप करना चाहिए क्योंकि इस मंत्र का जाप करने से एक मुखी रुद्राक्ष की शक्ति पुनः अपना प्रभाव दिखाने लगती है।

Related articles

नाबालिग गर्लफ्रेंड ने युवक को सऊदी अरब से बुलाकर हत्या की

नाबालिग गर्लफ्रेंड ने युवक को सऊदी अरब से बुलाकर हत्या की छत्तीसगढ़ के कोरबा क्षेत्र से हैरान करने वाली...

जम्मू कश्मीर में दिखे तीन संदिग्ध आतंकी, सेना ने शुरू किया ऑपरेशन

जम्मू कश्मीर में दिखे तीन संदिग्ध आतंकी, सेना ने शुरू किया ऑपरेशन जम्मू कश्मीर के काना चक क्षेत्र से...

अरविंद केजरीवाल को अंतरिम जमानत, लेकिन जेल से बाहर नहीं आ पाएंगे

अरविंद केजरीवाल को अंतरिम जमानत, लेकिन जेल से बाहर नहीं आ पाएंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सुप्रीम...

नक्की झील का सामान्य ज्ञान Nakki Jheel GK Hindi 2024

नक्की झील का सामान्य ज्ञान Nakki Jheel GK Hindi 2024 आज के आर्टिकल में हम राजस्थान की प्रसिद्ध नक्की...