Buy now

नवरात्र व्रत के नियम | navratra vrat ke niyam kya hai

नवरात्र व्रत के नियम | navratra vrat ke niyam kya hai

आज के इस आर्टिकल में हमें विस्तार से जानने का प्रयास करेंगे कि साफ-सफाई एवं शुद्धता का प्रतीक माने जाने वाले शरद नवरात्रि के व्रत के नियम क्या है ? श्र ?

वैसे तो नवरात्रा के व्रत कोई भी रख सकता है लेकिन 9 दिन तक व्रत कैसे रखा जाए इसके लिए शास्त्रों में कुछ बातें बताई गई है।

यह भी पढ़ें धीगां गणगौर कब और कहां मनाई जाती है , Dinga gangor kab aur kahan manae jaati hai

नवरात्र व्रत के नियम | navratra vrat ke niyam kya hai

  • व्रत करने वालों को पलंग के बजाय जमीन पर सोना चाहिए ।
  • नवरात्र का व्रत करने के लिए सोने के लिए गुदगुदे गद्दे प्रयोग करने से बचना चाहिए।
  • व्रत करने वालों को ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।
  • माता व्रत करने वाली व्यक्ति को झूठ बोलने से बचना चाहिए एवं सत्य का पालन करना चाहिए।
  • अपने व्यवहार में क्षमा , उदारता एवं उत्साह का भाव रखना चाहिए।
  • व्रत रखने वाले व्यक्तियों को अपनी इंद्रियों पर काबू रखना चाहिए किसी भी इंद्री का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए . व्रत करने वाले व्यक्ति को मां दुर्गा की पूजा करने के बाद अपने इष्टदेव का ध्यान करना चाहिए।
  • नवरात्रा का व्रत करने वाले लोगों को गुटखा , तंबाकू ,  शराब जैसी वस्तुओं से बचना चाहिए ।
  • नवरात्र के व्रत करने वाले लोगों को बार-बार उसी दौरान पानी पीने से भी बचना चाहिए ।

आशा करते हैं हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको बहुत पसंद आएगी , शास्त्रों में नवरात्रा की व्रत को बहुत खास माना गया है एवं कहते हैं कि जो व्यक्ति अपनी श्रद्धा एवं भाव से मां भगवती की व्रत करता है , उन पर मां की कृपा हमेशा बनी रहती हैं एवं उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है।

यह भी पढ़ें धनु राशि की स्त्री का चरित्र , Dhanu Rashi ki Istri ka charitra

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles