Buy now

सच्चियाय माता का जीवन परिचय 2024| मंदिर | इतिहास | कहानी

सच्चियाय माता का जीवन परिचय 2024| मंदिर | इतिहास | कहानी

सच्चियाय माता का जीवन परिचय 2024| मंदिर | इतिहास | कहानी , ओसिया माता किसे कहते हैं ? , सच्चियाय माता किसकी कुलदेवी है ? , सच्चियाय माता का मंदिर कहां है ?

सच्चियाय माता का जीवन परिचय 2024| मंदिर | इतिहास | कहानी
सच्चियाय माता का जीवन परिचय 2024| मंदिर | इतिहास | कहानी

सच्चियाय माता का जीवन परिचय 2024| मंदिर | इतिहास | कहानी

सच्चियाय माता राजस्थान के जोधपुर जिले में मुख्य रूप से लोकप्रिय है। इस माता को सांप्रदायिक सद्भावना की देवी कहा जाता है क्योंकि यहां पर हर जात पात के लोग बड़ी ही श्रद्धा भाव के साथ आते हैं।

जोधपुर शहर से मात्र 60 किलोमीटर की दूरी पर बना इस माता का मंदिर बहुत ही सुंदर और आकर्षक है।

ओसियां माता किसे कहते हैं ? 

सच्चियाय माता का मंदिर राजस्थान के जोधपुर जिले के ओसियां नामक स्थान पर होने के कारण इस माता को ओसियां माता भी कहा जाता है।

सच्चियाय माता किसकी कुलदेवी है ?

लोक देवी सच्चियाय माता ओसवाल जाति की कुलदेवी है। तथा इस माता के अधिक अनुयायी भी ओसवाल जाति के ही है।

सच्चियाय माता का मंदिर कहां है ?

सच्चियाय माता का मंदिर राजस्थान के जोधपुर जिले से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ओसिया नामक स्थान पर है।

सच्चियाय माता के मंदिर का निर्माण किसने करवाया ?

सांप्रदायिक सद्भावना की लोक देवी सच्चियाय माता के मंदिर का निर्माण परमार वंश के शासक उपलदेव ने करवाया था। यह भव्य मंदिर गुर्जर प्रतिहार कालीन महामारू शैली में निर्मित है।

सच्चियाय माता का मेला कब और कहां लगता है ?

सच्चियाय माता चैत्र व आश्विन के नवरात्रों में ओसियां में लगता है। इस मेले को देखने के लिए लाखों की संख्या में पर्यटक आते हैं।

Note- ओसिया का प्राचीन नाम उपदेश पट्ट्न है।

Note- ओसिया को मंदिरों का नगर तथा राजस्थान का भुवनेश्वर कहा जाता है।

Note- राजस्थान का ओसिया नामक स्थान जैन मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है। जिनका निर्माण गुर्जर प्रतिहार शासक वत्सराज ने करवाया था।

Note- ओसिया का सूर्य मंदिर प्रसिद्ध है जिसका शिखर कोणार्क के सूर्य मंदिर के समान है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles