Buy now

दूसरा विवाह कब करना चाहिए ? Dusri shaadi kab karni chahie

दूसरा विवाह कब करना चाहिए ? Dusri shaadi kab karni chahie 

दूसरी शादी क्यों करनी चाहिए ? , दूसरी शादी कब करनी चाहिए , दूसरा विवाह क्यों करना चाहिए ? , Dusri marriage kab karni chahie .

दूसरा विवाह कब करना चाहिए ? Dusri shaadi kab karni chahie
दूसरा विवाह कब करना चाहिए ? Dusri shaadi kab karni chahie
दूसरा विवाह कब करना चाहिए ? Dusri shaadi kab karni chahie

वैसे तो आप जानते होंगे, कि प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में शादी का विशेष महत्व होता है एवं प्रत्येक धर्म में शादी को विशेष महत्व दिया जाता हैं।

लेकिन कई बार कई दंपति में आपसी मनमुटाव की वजह से रिश्ते टूटने की कगार तक पहुंच जाते हैं , एवं ऐसे वक्त पर व्यक्ति एवं महिला दोनों अपनी नई दुनिया बसाने के लिए दूसरी शादी करने की सोचते हैं ? लेकिन जिन लड़कियों के साथ किस प्रकार की स्थिति नहीं होती है उन्हें दूसरी शादी नहीं करनी चाहिए ? क्योंकि जब पति या पत्नी के बीच आपसी रिश्ते की है तो फिर किसी तीसरे को अपनी जिंदगी में लाने का कोई मतलब नहीं रह जाता हैं, ऐसा करने से परिवार की स्थिति खराब हो जाती है एवं परिवार उजड़ने का भी डर रहता हैं।

लेकिन अगर तलाक हो जाता है तो इसके बाद दूसरी शादी करने से पहले व्यक्ति को कई बातों का पता लगा लेना चाहिए कि जिन परिस्थितियों से पिछली बार तलाक हुआ था इस बार उन गलतियों को पहले से ही जान लेना चाहिए , उन्हीं गलतियों को दोबारा दोहराने का प्रयास नहीं किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें कर्क राशि की स्त्री का स्वभाव , चरित्र , व्यवहार , जानिए और भी राज

इसी विचार के साथ , आप अपनी दूसरी शादी के बारे में सोच सकते हैं , अगर आपको लगे किसी साथ आपकी जिंदगी गुज़र सकती है तो आप उनके साथ उसकी सहमति से दूसरी शादी कर सकते हैं।

आशा करते हैं हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको बहुत पसंद आएगी, इसी तरह के और आर्टिकल पढ़ते रहने के लिए आप gaanvkhabar.com पर विजिट कर सकते हैं एवं आसान भाषा में आप हर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles