Buy now

बेटी को ससुराल किस दिन भेजना चाहिए, बेटी को ससुराल किस दिन नहीं भेजना चाहिए

बेटी को ससुराल किस दिन भेजना चाहिए, बेटी को ससुराल किस दिन नहीं भेजना चाहिए

बेटी को ससुराल किस दिन भेजना चाहिए , बेटी को ससुराल किस दिन नहीं भेजना चाहिए , बेटी को ससुराल भेजने का शुभ दिन कौन सा होता है , beti ko sasural kis din bhejna chahie

बेटी को ससुराल किस दिन भेजना चाहिए, बेटी को ससुराल किस दिन नहीं भेजना चाहिए
बेटी को ससुराल किस दिन भेजना चाहिए, बेटी को ससुराल किस दिन नहीं भेजना चाहिए

बेटी को किस दिन ससुराल भेजना चाहिए और किस दिन नहीं भेजना चाहिए से संबंधित जानकारी अनेक वास्तु ग्रंथों से प्राप्त होती है इसलिए आज हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे की बेटी को कब ससुराल भेजना चाहिए और कब नहीं।

बेटी को ससुराल किस दिन भेजना चाहिए

वास्तु शास्त्र तथा प्राचीन मान्यताओं के आधार पर बेटी को ससुराल हिंदू माह के शुक्ल पक्ष की प्रथमा , द्वितीया , तृतीया , चतुर्थी , पंचमी , नवमी , त्रयोदशी तथा चतुर्दशी तिथि को भेजना चाहिए।

तथा हिंदू माह के कृष्ण पक्ष की षष्ठी , सप्तमी , अष्टमी तथा द्वादशी तिथि के दिन बेटी को ससुराल अति उत्तम माना जाता है। इस दिन बेटी को ससुराल भेजने से उसके दांपत्य जीवन में किसी भी प्रकार की कठिनाइयां नहीं आती है।

यह भी पढ़ें बेटी के ससुराल में खाना, खाना चाहिए या नहीं । बेटी के घर भोजन करना चाहिए या नहीं।

बेटी को ससुराल किस दिन नहीं भेजना चाहिए

हिंदू माह के शुक्ल पक्ष की षष्ठी , एकादशी तथा पूर्णिमा तिथि के दिन बेटी को ससुराल नहीं भेजना चाहिए क्योंकि इन दोनों ही तिथियों को वास्तु शास्त्र तथा प्राचीन मान्यताओं के आधार पर बेटी को ससुराल भेजने के लिए उपयुक्त नहीं माना गया है।

जबकि कृष्ण पक्ष की प्रथमा , द्वितीया , तृतीया तथा अमावस्या तिथि के दिन बेटी को ससुराल भेजना प्राचीन मान्यताओं के अनुसार शुभ माना जाता है। इस दिन बेटी को ससुराल भेजने से उसके जीवन में अनेक कठिनाई आती है इसलिए इस दिन को कभी भी बेटी को ससुराल नहीं भेजना चाहिए।

बेटी को ससुराल भेजने का शुभ दिन कौन सा होता है

बेटी को ससुराल भेजने के लिए सोमवार , बुधवार तथा गुरुवार के दिन को सर्वोत्तम माना गया है। इन तीनों ही वारों के दिन बेटी को ससुराल भेजना अच्छा था तथा शुभ होता है।

यह भी पढ़ें बिल्ली का रास्ता काटना शुभ होता है या अशुभ ? Billee ka rasta kaatna Shubh hota hai ya ashubh

इसके अलावा पुत्री को ससुराल भेजते समय ध्यान रहे कि इस दौरान किसी भी प्रकार का कोई अशुभ संकेत नहीं हो जैसे कि छींक आना तथा किसी के द्वारा टोकना या फिर किसी भी व्यक्ति का आसपास में देहांत हो जाना तथा कुत्तों का भोकना क्योंकि अगर इनमें से कोई भी एक शुभ संकेत होता है तो यह दिन ससुराल भेजने के लिए ठीक नहीं होता है।

Disclaimer – Gaanv Khabar द्वारा लिखी गई जानकारी विभिन्न स्रोतों तथा माध्यमों से प्राप्त की गई है , कृपया इसे उपयोग में लेने से पहले अपने स्तर पर जांच जरूर कर लें, अन्यथा किसी प्रकार के नुकसान के लिए हमारी टीम जिम्मेदार नहीं होगी।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles