Buy now

बहू को पीहर किस दिन भेजना चाहिए , बहू को पीहर किस दिन नहीं भेजना चाहिए

बहू को पीहर किस दिन भेजना चाहिए , बहू को पीहर किस दिन नहीं भेजना चाहिए

बहू को पीहर किस दिन भेजना चाहिए , बहू को पीहर किस दिन नहीं भेजना चाहिए , बहू को पीहर भेजने का शुभ दिन , bahu ko pihar kis din bhejna chahie , bahu ko pihar bhejne ka shubh din , bahu ko pihar kis din Nahin bhejna chahie

बहू को पीहर किस दिन भेजना चाहिए , बहू को पीहर किस दिन नहीं भेजना चाहिए
बहू को पीहर किस दिन भेजना चाहिए , बहू को पीहर किस दिन नहीं भेजना चाहिए

सनातन धर्म में प्राचीन मान्यताओं के आधार पर बेटी तथा बहू को शुभ तथा अशुभ दिन देखकर ही ससुराल भेजा जाता है इसलिए आज हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे बहू को ससुराल भेजने से संबंधित विस्तृत जानकारी।

बहू को पीहर किस दिन भेजना चाहिए

बहू को पीहर हिंदू कैलेंडर के शुक्ल पक्ष के अनुसार पंचमी सप्तमी कथा नवमी तिथि के दिन भेजना चाहिए। जबकि हिंदू कैलेंडर के कृष्ण पक्ष के अनुसार पीहर अमावस्या तिथि को छोड़कर किसी भी दिन भेजना शुभ होता है।

बहू को पीहर किस दिन नहीं भेजना चाहिए

जब बहू गर्भावस्था में हो उस दौरान बहू को कभी भी ससुराल नहीं भेजना चाहिए क्योंकि प्राचीन धार्मिक ग्रंथों तथा वास्तु शास्त्र के अनुसार गर्भवती स्त्री को घर परिवर्तन करवाना अशुभ माना जाता है।

यह भी पढ़ें बेटी के ससुराल में खाना, खाना चाहिए या नहीं । बेटी के घर भोजन करना चाहिए या नहीं।

गर्भावस्था के दौरान यदि कोई भी स्त्री अपना घर छोड़कर किसी दूसरे घर में जाती है तो उससे बच्चे के बिगड़ने की संभावनाएं प्राचीन धार्मिक ग्रंथों के अनुसार अधिक बनती है इसलिए गर्भावस्था के दौरान बहू को अपने घर पर ही रहना चाहिए।

इसके अतिरिक्त अमावस्या तथा शनिवार के दिन भी बहू को पीहर नहीं भेजना चाहिए क्योंकि वास्तु शास्त्र के अनुसार अमावस्या की तिथि तथा शनिवार के दिन को पीहर भेजने के लिए अशुभ माना गया है।

बहू को पीहर भेजने का शुभ दिन

बहू को पीहर भेजने के लिए रविवार सोमवार तथा बुधवार के दिन को वास्तु शास्त्र में शुभ दिन माना गया है। इस दिन बहू को पीहर भेजने से उसके मायके वाले अत्यधिक प्रसन्न होते हैं। और बहू वापस जल्दी ससुराल आ जाती है।

यह भी पढ़ें मई 2023 विवाह शुभ मुहूर्त , शुभ तिथि , शुभ दिन , शुभ नक्षत्र

तथा इस दिन को पीहर भेजने के लिए सर्वोत्तम दिन माना जाता है धार्मिक ग्रंथों तथा वास्तु शास्त्र के अध्ययन के बाद ज्ञात होता है कि इस दिन पीहर भेजने से ससुराल पक्ष वालों को उत्तम फल की प्राप्ति होती है तथा उनके व्यवहारिक संबंध अधिक प्रबल होते हैं।

Disclaimer – Gaanv Khabar टीम द्वारा लिखी गई जानकारी विभिन्न स्रोतों एवं माध्यमों से प्राप्त की गई है , कृपया उपयोग में लेने से पहले अपने स्तर पर जांच जरूर कर लें, अन्यथा किसी प्रकार के नुकसान के लिए हमारी टीम जिम्मेदार नहीं होगी।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles